मांगलिक और आंशिक मांगलिक दोष क्या है | Manglik Dosh in Hindi

Manglik Dosh in Hindi kundali milan shaadi 99

आज के इस लेख में हम मांगलिक दोष (Manglik Dosh) और आंशिक मांगलिक दोष (Anshik Manglik Dosh) के विषय में जानेंगे। यह मांगलिक दोष क्या है ग्रहों की कैसी स्थिति के कारण कुंडली में यह दोष उत्पन्न होता है यह जानने की कोशिश करेंगे। एवं इस दोष से क्या हानि होती है एवं इससे कैसे बचा जाए इस पर भी चर्चा करेंगे। तो आइए सर्वप्रथम यह जानते हैं कि यह मांगलिक एवं आंशिक मांगलिक दोष क्या है।

सम्बंधित जानकारी :

मांगलिक एवं आंशिक मांगलिक दोष क्या है | Manglik Meaning in Hindi

किसी की जन्म कुंडली के प्रथम, चौथे सातवें तथा आठवें घर में मंगल ग्रह के स्थित होने से एक दोष उत्पन्न होता है l इसे मांगलिक दोष कहते हैं | एवं जब ये ग्रह उस घर ( खाने ) से अन्य किसी घर में प्रवेश करता है तो इस मांगलिक दोष को आंशिक मांगलिक दोष कहा जाता है। क्योंकि यह दोष मांगलिक दोष के समान पूर्णतः प्रभावी नहीं होता है। इसका प्रभाव मांगलिक दोष की तुलना में केवल अंश मात्र होता है। और

मांगलिक दोष वाले व्यक्तियों के लक्षण | Manglik Dosha Ke Lakshan | anshik manglik meaning in hindi

  1. जब किसी व्यक्ति के कुंडली के पहले घर में यानी कि लग्न भाव में मंगल स्थित होता है तो वह व्यक्ति बड़ा ही तेज तरार हो जाता है।
  2. और यदि किसी की कुंडली में चौथे खाने में मंगल स्थित होता है तो उस इंसान को पारिवारिक भूमिका प्रदान करता है।
  3. जिन लोगों के कुंडलियों में सातवें खाने में मंगल स्थित होता है वह लोग अपने सहयोगियों, संबंधियों के प्रति अत्यंत कठोर हो जाते हैं।
  4. इसके अतिरिक्त मंगल के आठवें और बारहवें खाने में स्थित होने पर व्यक्ति की क्षमता एवं आयु प्रभावित होती है। एवं मंगल की शुभाशुभ स्थितियों पर निर्भर करता है ।कि व्यक्ति को इसके शुभ परिणाम मिलेंगे या अशुभ।
  5. मांगलिक दोष से प्रभावित व्यक्ति कठोर स्वभाव के, कठिन निर्णय लेने वाले, अपने काम में पूर्णतः मग्न रहने वाले, योजनाबद्ध तरीके से कार्य करने वाले होते हैं।

मांगलिक दोष से व्यक्ति के जीवन में कौन सा नकारात्मक प्रभाव पड़ता है:- Manglik Dosh Effetcs

कई ज्योतिष विद के द्वारा इस मांगलिक दोष को सूर्य लग्न, चंद्र लग्न और शुक्र लग्न से देखा जाता है। मांगलिक दोष वाले व्यक्ति से आंशिक मांगलिक व्यक्ति का विवाह नहीं करवाया जा सकता। और ऐसा करवाने पर प्रतिकूल परिस्थितियों का निर्माण होता है यह दोनों के लिए ही हानिकारक होता है। और इसलिए एक मांगलिक व्यक्ति का विवाह मांगलिक व्यक्ति के ही साथ करवाया जाना सही होता है। हालांकि आंशिक मांगलिक दोष को कुछ उपायों के द्वारा समाप्त किया जा सकता है। किंतु फिर भी इनका विवाह पूर्ण मांगलिक दोष वाले अथवा जिनको मांगलिक दोष नहीं है। उनके साथ नहीं करवाया जा सकता। मंगल ग्रह को ज्योतिष विद्वान मर्णनात्मक ग्रह के रूप में देखते हैं। हालांकि कुंडली के अन्य भी कई प्रकार के दोष होते हैं। जिससे कि विवाह खंडित होना, जीवनसाथी की मृत्यु अथवा वैवाहिक रिश्ते में परेशानीयां आती है। अतः कुंडली की सही प्रकार से जांच किए बिना किसी भी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सकता है। परंतु ऐसे प्रभाव मांगलिक दोष में भी देखने को मिलते हैं। और कई बार अन्य ग्रहों के द्वारा संयोग बन जाता है जिससे कि मांगलिक दोष का निवारण स्वतः ही हो जाता है।

किस प्रकार ग्रहों के संयोग से मांगलिक दोष का निवारण होता है | Manglik Dosha Remedies

  1. इस दोष का निवारण कई बार जन्मपत्रिका के 1,4,8,12 भाव में मंगल के अतिरिक्त राहु ,केतु ,शनि जैसे ग्रह स्थित हो जाते हैं तो ऐसी स्थिति में मांगलिक दोष का निवारण स्वयं ही हो जाता है।
  2. कुंडली में मंगल ग्रह अपनी स्वयं की राशि मेष वृश्चिक अथवा मकर में स्थित हो जाता है तो मांगलिक दोष का निवारण हो जाता है।
  3. इसके अतिरिक्त यदि बृहस्पति की पूर्ण दृष्टि यदि मंगल पर हो तो मांगलिक दोष का प्रभाव नहीं पड़ता है व्यक्ति के जीवन पर।
  4. मंगल यदि बारहवें खाने में धनु राशि में स्थित होता है अथवा आठवें खाने में नीच राशि कर्क में स्थित होता है तो मांगलीक दोष निष्प्रभावी सिद्ध होता है।
  5. यदि लड़के लड़की की कुंडली में चंद्रमा या बृहस्पति मंगल के साथ स्थित हो तो मांगलिक दोष का प्रभाव व्यक्ति पर नहीं पड़ता। आदि ऐसे ही कई प्रकार की से ग्रहों के योग संयोग द्वारा मांगलिक दोष निषप्रभाव हो जाता है।

कुंडली मिलान में मांगलिक दोष | Kundali Milan in Manglik Dosha | Anshik Manglik Dosh

हमारे देश भारत में हजारों वर्षों से विवाह के समय लड़का और लड़की की कुंडली का मिलान किया जाता रहा है | ऐसा माना जाता है कि कुंडली मिलाने से वर और वधु का जीवन सुखमय रहता है | हमारे हिन्दू धर्म में तो इसकी बहुत मान्यता है | जिन लड़के और लड़कियों की कुंडली में मांगलिक दोष होता है उनकी कुंडली का मिलान जरुरी माना जाता है |

लेकिन दुनियां में बहुत सारे ऐसे धर्म भी हैं जहाँ शादी होने से पहले कुंडली मिलान और मांगलिक दोष जरुरी नहीं माना जाता | जैसे मुस्लिम धर्म, बौद्ध धर्म, इसाई धर्म, आदि | सिख धर्म में भी इसका कोई विशेष महत्व नहीं है |

मांगलिक दोष कैसे चेक करें | how to check Manglik | Anshik Manglik Marriage

अगर आप भी कुंडली मिलान में विशवास रखते हैं तो आपको मांगलिक दोष जानने के लिए लड़के या लड़की की कुंडली का मिलान अवश्य करना चाहिए | और अगर आप जिनके लिए रिश्ता देख रहे हैं और उनकी कुंडली में मंगली दोष है तो आपको manglik biodata में लिखना चाहिए | वैसे तो एक काम पंडित लोग, ज्योतिष आदि करते हैं | लेकिन अगर आप स्वयं ही कुंडली का मिलान करना चाहते हैं तो बहुत सारे विकल्प मौजूद है | बहुत सारे कंप्यूटर सॉफ्टवेयर मिल जाते हैं जिससे आप आसानी से कुंडली का मिलान कर सकते हैं |

अगर आप मोबाइल पर ही कुंडली का मिलान करना चाहते हैं तो आज बहुत साड़ी मोबाइल एप और वेबसाइट भी उपलब्ध है जहाँ आप आसानी से वर वधु की कुंडली का मैच कर सकते हैं |

मांगलिक दोष स्पेशल ऑफर | आशिक मांगलिक ऑफर | shaadi 99

शादी 99 डॉट नेट मांगलिक दोष के कारण होने वाली वैवाहिक समस्या को बहुत अच्छी तरह जानता है | इसीलिए हमने अपने इस पोर्टल पर एक विशेष ऑफर “Shaadi 99 मांगलिक ऑफर

आरम्भ किया है | इस ऑफर में हम आपसे Manglik या Anshik Manglik लड़की के विज्ञापन प्रकाशित कारवाने के लिए पैसे नहीं लेंगे |

इसकी अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें |

मांगलिक दोष कैसे चेक करें | Manglik Dosha Calculator | Manglik Check

अगर आप अपनी कुंडली में मंगल दोष चेक करना चाहते है तो यहाँ अपनी जन्तिथि की, जन्म का समय और जन्म का स्थान (गाँव / शहर) का नाम लिखें और Get Result पर क्लिक करें | आपके सामने पूरी जानकारी आजय्गी की आप मांगलिक हैं या नहीं |


सम्बंधित जानकारी :

शेयर करें
Posted by: Shaadi99

3 Comments so far:

  1. […] आंशिक मांगलिक दोष क्या है | मगल दोष की ज… […]

Leave a Reply

Your email address will not be published.