शादी की तैयारी कैसे करें | Shaadi Ki Taiyari Kaise Kare

Shaadi Ki Taiyari Kaise Kare

नमस्कार दोस्तों | शादी 99 में आज हम आपको शादी की तैयारी (shadi ki taiyari) की जानकारी देने जा रहे हैं | विवाह संस्कार एक ऐसा संस्कार है जिसे सभी धर्म एवं समुदाय के लोग अपने-अपने ढंग से निभाते ही हैं। विवाह केवल एक पवित्र बंधन ही नहीं बल्कि एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी भी है। एवं विवाह के पश्चात इन जिम्मेदारियों को निभाने के लिए तैयार गृहस्थ जोड़ी यूं ही नहीं बन जाती। इसके लिए पहले विवाह होना आवश्यक है। जोकि एक विचारणीय विषय है। शादी की तैयारियों के लिए अनेकों विचार किए जाते हैं। खासकर यह बात वे लोग ही अधिक अच्छी तरह से समझ सकते हैं। जिनके घरों में विवाह की तैयारियां चल रही है और विवाह में बहुत ही कम समय रह गया है। ऐसे में लोग बड़े परेशान हो जाते हैं और उन्हें यह समझ नहीं आता कि तैयारी की शुरुआत कहां से करें। यह काम कैसे पूरा होगा तो आज के इस लेख में इसी विषय पर चर्चा करेंगे। और जानेंगे कि आखिर किस प्रकार से कम समय में ही विवाह की शानदार तैयारी की जा सकती है आइए प्रारंभ करते हैं।

सम्बंधित जानकारी :

जैसी शादी वैसे करें शादी की तैयारी | Jaisi Shaadi, Waise Kare Shaadi ki Taiyari

भिन्न- भिन्न समुदाय में भिन्न -भिन्न प्रकार से विवाह होते हैं एवं सभी के अपने-अपने नियम और रस्में होती है। इसलिए इसी के अनुसार पहले यह तय करें कि किस प्रकार का विवाह करना है। आपके समुदाय में कौन-कौन सी रस्में निभाई जाती है। इन रस्मो को निभाने में कितने दिन लगते हैं कुल कितने आयोजन और उत्सव रखे जाते हैं। कुछ रिती रिवाज तो सारे हिंदुओं के एक समान ही होते हैं। जिसे तो सभी निभाते हैं जैसे-हल्दी की रस्म, रोके की रस्म, मेहंदी की रस्म, फेरों की रस्म, कन्यादान की रस्म।

शादी की तैयारी कैसे करें | Marriage Preparation List | Shadi ki Taiyari Kaise Kare

दूल्हा दुल्हन के विवाह के लिए तैयार होने के पश्चात। सर्वप्रथम किसी पंडित जी या पुरोहित जी से कहकर शुभ मुहूर्त निकलवा लें। एवं उसी बताए गए महूरत के विवाह की उसी तिथि पर विवाह सुनिश्चित कर लें।

विवाह के लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण है विवाह जहां हो सके ऐसी कोई खुली जगह ग्राउंड वगैरह कुछ भी। इसके अतिरिक्त विवाह में आने वाले अतिथियों के ठहरने की व्यवस्था के लिए होटल या लॉज इत्यादि बुक कर लें। जितने दिन विवाह के रीति-रिवाजों में लगेंगे उसी के अनुसार इतने दिन के लिए बुकिंग करा लें। क्योंकि यदि सही स्थान की व्यवस्था ना हुई तो विवाह के आनंद में कमी रह जाती है।

विवाह में होने वाले खर्च की योजनाएं | Financial Planing For Marriage

अब आपको विवाह में होने वाले खर्चों की सूची तैयार कर लेनी है। किन-किन चीजों में कितने खर्च होंगे इसका हिसाब कर लेना है। वस्त्र ,आभूषण, खाने, पीने की सामग्रियां डीजे इत्यादि गाने बजाने के साधन उपहार इत्यादि। खर्चों की पूरी सूची तैयार कर लें।

विवाह में आमंत्रित किए जाने वाले अतिथियों की सूची | Guest List for Marriage Invitation

सारे अतिथियों की सूची तैयार कर लें जिन्हें आप विवाह में आमंत्रित करने वाले हो। लोकल अतिथियों की तथा बाहर के क्षेत्र में निवास करने वाले अन्य अन्य अतिथियों की भी अलग-अलग लिस्ट तैयार कर लें।

इसके पश्चात विवाह का निमंत्रण पत्र छपवा लें। एवं फिर सभी रिश्तेदारों एवं परिचितों को जिन्हें आप विवाह में आमंत्रित करना चाहते हो विवाह का कार्ड देने जाना होता है। एवं जिसके पास जाकर निमंत्रण नहीं दे सकते उन्हें फोन के माध्यम से ही आमंत्रित कर लें। एवं जो अतिथि जिस दिन जिस वक्त आने वाले हों उस दिन उन्हें हवाई अड्डे या स्टेशन से लेने जाने की जिम्मेदारी अपने किसी विश्वास पात्र व्यक्ति को सौंपें। एवं फिर भी समय पर उन्हें इस कार्य के लिए स्वयं ही याद अवश्य दिलाएं।

यात्रा के लिए ट्रेन या जहाजों के टिकट बुकिंग का रखें ख्याल | Bus or Train Booking For Guest

विवाह के लिए किसी कारण से यात्रा करनी पड़े अथवा किसी अतिथि के लिए टिकट बुकिंग करनी हो। तो यह कार्य समय रहते ही पूर्ण कर लेना चाहिए। ताकि अधिक भीड़ ना हो जाए क्योंकि ऐसा होने से टिकट मिलने में समय लगता है।

विवाह की खरीदारियां | Shopping for Marriage

विवाह में अपने सभी परिवारी जनों के लिए तथा अन्य रिश्तेदारों, अतिथियों के लिए जो उपहार एवं वस्त्र आभूषण इत्यादि खरीदने हैं किस दिन के लिए कौन से उपहार कौन सा वस्त्र , पहना जाएगा उसे सिलवाओगे कहाँ आदि सब कुछ सुनिश्चीत कर लें। और समय से ही खरिददारी ,सिलाई इत्यादि करवा लें ताकि बाद में किसी प्रकार की परेशानी ना आए।

विवाह में खाना बनने की योजना तैयार करें | Food List for Marriage

इस विषय पर विचार करके पहले से ही योजना तैयार कर लें कि विवाह में कितने दिनों तक भोजन बनाया जाएगा एवं कितना बनाया जाएगा। इसके अतिरिक्त कौन कौन सा भोजन बनेगा किस समय लोगों को नाश्ता दिया जाएगा। एवं के समय भोजन दिया जाएगा।

संगीत की रस्म में ध्यान रखने योग्य बातें | Sangeet Ceremony

1.गानें एवं नृत्य इत्यादि पहले से ही सुनिश्चित कर लें ।

2.डीजे,या बॉक्स इत्यादि का इंतजाम पहले से ही कर लें ।

3.जिन गानों पर नृत्य सुनिश्चित किया है उन गानों की सीडी, डीवीडी इत्यादि पहले से व्यवस्थित कर ले एवं डीजे ऑपरेटर को दे दें।

  1. इसके अतिरिक्त नृत्य सीखना भी समय से ही प्रारंभ कर लें।
  2. एवं संगीत की रस्म में कोई किसी एंकर को रखने से संगीत में रौनक आ जाती है। एवं लोगों को ज्यादा अच्छा भी लगता है।
  3. किंतु यदि आप आतिथेय स्वयं ही करने वाले हो तो पहले से ही जो बोलने वाले हो उसका आलेख तैयार कर लेना चाहिए।

एवं अपने अपने नियमों के अनुसार अन्य जो जो विधियां विवाह में की जाती है। रोके की रस्म हल्दी की रस्म आदि ।इन सब की योजना पहले से ही बनाकर रखें। एवं उसी के अनुरूप सारे रस्मों को पूरा करें।

इन सब के अतिरिक्त ख्याल रखी जाने योग्य बातें | Other Marriage Tips in Hindi

अतिथियों को आप की ओर से दिए जाने वाले लिफाफे की सूची पहले से ही तैयार करके रख लें। एवं किस अतिथि को कितने रुपए लिफाफे में देने हैं इस बात का निश्चय घर के बड़े बूढ़ों के साथ बैठकर कर लें। क्योंकि इस विषय में उनका ज्ञान एवं अनुभव अतुल्य होता है।

एवं वधु के वस्तुओं का भी विशेष ख्याल रखें क्योंकि शादी के माहौल में वस्तुएं इधर उधर भी हो ही जाती हैं। अतः ख्याल से वधु के सारे वस्तुओं को बैग आदि में भर कर तैयार कर दें।

तथा किसी फोटोग्राफर को पहले से ही अवश्य कह दें जिससे कि वे समय पर आ सकें। क्योंकि उनका समय पर आना आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होता है। जिससे कि आप जिन उत्सवों का रस्मों का फोटो वीडियो बनवाना चाहते हो। जिससे कि रस्मो की यादें सुरक्षित की जा सके। इसके लिए फोटोग्राफर का समय पर आना काफी महत्वपूर्ण होता है।


सम्बंधित जानकारी :

शेयर करें
Posted by: Shaadi99

Leave a Reply

Your email address will not be published.